राजभाषा

 

हिंदी राजभाषा समिति द्वारा राजभाषा की प्रागामी प्रगति के लिए उठाए गए कदम-वार्षिक वर्ष२०१६१७

सब खड की मोहरे, पदनाम,सूचना पट्ट दिशा निर्देश द्विभाषी में है |

कार्यालय के सब फाइलों का नाम द्विभाषी बनाया गया है |

कार्यालयी प्रमुख प्रपत्रों (प्रोफार्मा) को द्विभाषी बनाया गया है | कई प्रपत्रों का अनुवाद कार्य भी हुआ है | अब ५२ प्रपत्र द्विभाषी है |

विभिन्न विभागों के नाम द्विभाषी रूप में बनाया गया है |

सेवा पुस्तिकाओं में हिंदी में विषय की प्रविष्टि का काम जारी है |

हाजिरी रजिस्टर, कर्मचारी-सूची द्विभाषी है |

प्रेस विज्ञप्ति द्विभाषी में दिया गया है |

आवक-जावक पुस्तिका में प्रविष्टि है |

दो शिक्षक पत्राचार पाट्यक्रम द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है |

|

सब प्रमुख स्थानों पर इस साफ्टवेयर को कंप्यूटर में लगाया गया है |

कार्यालयी पत्राचार में द्विभाषी प्रयोग हो रहा है |

तिमाही रिपोर्ट को ठीक समय पर भेजा जा रहा है |

राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठकों को अर्थपूर्ण ढंग से आयोजित किया जा रहा है |

हिंदी पत्राचार प्रतिशत अब ६०% तक पहुँच चुका है |

}  हिंदी भाषा के संबंध में वार्षिक वर्ष में आयोजित प्रतियोगिताएँ

विद्यार्थियों के लिए :--

q हस्तलिखित हिंदी पत्रिका रश्मिरथी का लोकार्पण

q प्राथमिक कक्षाकक्षा-१- अभिनय गीत

q कक्षा २ कविता वाचन

q कक्षा ३कहानी कथन

q कक्षा ४अनुच्छेद लेखन (सृजनात्मक लेख)

q कक्षा ५भाषण

q कक्षा ६सुलेख

q कक्षा ७कविता वाचन

q कक्षा ८आशुभाषण

q कक्षा ९निबंध लेखन

कक्षा १०-१२----स्वरचित कविता लेख

हिंदी भाषा के संबंध में आयोजित प्रतियोगिताएँ अहिन्दी भाषी शिक्षकों के लिए :-

१.भाषण प्रतियोगिता

२.निबंध कला

हिंदी भाषी शिक्षक वर्ग:-

कवि सम्मेलन

कार्यालयी कर्मचारियों के लिए :-

अनुवाद कला प्रतियोगिता

उप कर्मचारियों के लिए :-

सुलेख व श्रुतलेख प्रतियोगिता

प्राचार्या तथा प्रशासनिक अधिकारियों के लिए :

टिप्पण लेख

अनुवाद कला प्रतियोगिता

 

भारत के जन-जन के मन में हर भाषा सम्मान्य रहे,

पर हिंदी ही राजभाषा बनी रहे |